भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) अपनी ओर से IPL 2021 सीजन को पूरा करने की कोशिशों में जुटा है इसके लिए बोर्ड ने संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में आयोजन का फैसला कर लिया है और इसके लिए सितंबर-अक्टूबर का वक्त तय किया है. अब सिर्फ खिलाड़ियों को UAE पहुंचाने की जरूरत है, लेकिन इसी राह में असली परेशानी विदेशी खिलाड़ियों को लेकर आ रही है, जिनमें से कईयों का दूसरे हिस्से में खेलना मुश्किल है ।

टूर्नामेंट को लगभग आधी स्टेज के बाद स्थगित किया गया था और इसलिए अगर विदेशी खिलाड़ी दोबारा नहीं लौटते हैं, तो उनको अपनी कमाई का आधा हिस्सा गंवाना पड़ेगा । T20 वर्ल्ड कप से ठीक पहले है और कई टीमों के अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम से टकरा रहा है. ऐसे में इन सीरीज और T20 वर्ल्ड कप को देखते हुए कई विदेशी खिलाड़ियों के फिर से इसमें शामिल होने पर संशय है ।

ENGLAND क्रिकेट बोर्ड पहले ही इशारा कर चुका है कि उसके खिलाड़ी नहीं खेलेंगे, जबकि BANGLADESH बोर्ड ने भी अपने दो खिलाड़ियों के शामिल होने से मना कर दिया है AUSTRALIA के तेज गेंदबाज पैट कमिंस को लेकर भी दावा किया जा रहा है ।

कि वे भी बचे हुए मैचों के लिए नहीं लौटेंगे ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि उनकी सैलरी का क्या होगा, क्रिकेटरों को नीलामी में जिस रकम पर खरीदा जाता है वही हर सीजन के लिए उनकी कमाई होती है ऐसे में, टूर्नामेंट के लिए न लौटने पर उन्हें किस आधार पर भुगतान होगा ।

इस मामले में BCCI के एक अधिकारी ने बताया है कि इन ऐसी स्थिति में कोई भी खिलाड़ी जिस वक्त तक टूर्नामेंट का हिस्सा रहा, उसे इसके अनुपात में भुगतान होगा इनसाइड स्पोर्ट ने BCCI अधिकारी के हवाले से बताया ।

अगर वे विदेशी खिलाड़ी IPL केे लिए नहीं आते हैं, फ्रेंचाइजियों को अधिकार होगा की उनकी सैलरी काट सकेंगी और उनको सिर्फ ‘प्रो-राटा’ मैचों के अनुपात में आधार पर भुगतान कर सकेंगी । इस लिहाज से ENGLAND से लेकर BANGLADESH और AUSTRALIA के खिलाड़ियों की इस IPL सीजन से कमाई सिर्फ आधी रह जाएगी ।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments